बीमा भारती को सीएम नीतीश की चेतावनी! कहा- पहले प्यार से समझाया जाएगा

बिहार समाचार: पटना के आईजीआईएमएस में भर्ती ऊर्जा मंत्री विजेंद्र यादव की तबीयत जानने के लिए जब नीतीश कुमार अस्पताल से बाहर निकले तो पत्रकारों के सवाल के बाद नीतीश कुमार का गुस्सा फूट पड़ा. नीतीश कुमार ने कहा कि मैं उन्हें कई बार मंत्री बना चुका हूं. बीमा भारती हलफनामा नहीं पढ़ पाई, इसलिए अगली बार उन्हें पहले पढ़ना सिखाया गया।

पूर्व मंत्री और जदयू विधायक बीमा भारती को अपनी ही सरकार की मंत्री लेसी सिंह पर आरोप लगाना महंगा पड़ा है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बीमा भारती के बयानों पर कड़ी आपत्ति जताते हुए चेतावनी भी दी है. उन्होंने बीमा भारती को चेतावनी देते हुए कहा कि पहले उन्हें प्यार से समझाया जाएगा, अगर वह नहीं मानी तो पार्टी आगे की कार्रवाई करेगी. नीतीश कुमार ने कहा कि बीमा भारती को ऐसा बयान नहीं देना चाहिए था. हमें बहुत आश्चर्य है कि पार्टी उनके बयान पर पूरे मामले की जांच कर रही है.

यह भी पढ़ें - बिहार: गेस्ट हाउस में चल रहा था फर्जी थाना, 500 रुपये प्रतिदिन के हिसाब से कर रहे थे फर्जी पुलिसकर्मी

बता दें, पटना के आई जीआईएमएस में भर्ती ऊर्जा मंत्री विजेंद्र यादव का स्वास्थ्य जानने के लिए जब नीतीश कुमार अस्पताल से बाहर निकले तो पत्रकारों के सवालों के बाद नीतीश कुमार का गुस्सा फूट पड़ा. नीतीश कुमार ने कहा कि मैं उन्हें कई बार मंत्री बना चुका हूं. बीमा भारती हलफनामा नहीं पढ़ पाई, इसलिए अगली बार उन्हें पहले पढ़ना सिखाया गया।

यह भी पढ़ें -पेशाब करने को लेकर हुई मारपीट में एक की मौत

  लेसी सिंह पर जो आरोप लगा रही हैं, वह बिल्कुल गलत है और ऐसा नहीं कहा जाना चाहिए। जो मैंने बीमा भारती के लिए नहीं किया, जो कुछ उन्होंने कहा वह बिल्कुल गलत है और लेशी सिंह के खिलाफ अब कोई मामला नहीं है। क्या यह जरूरी नहीं है कि सभी मंत्री बनें, बीमा भारती सरकार में दो बार मंत्री बनीं।

बीजेपी को लेकर सीएम ने कही ये बात

यह भी पढ़ें सीतामढ़ी जंक्शन पर हत्या, सुरक्षा व्यवस्था पर उठा सवाल

बिहार में भाजपा द्वारा जंगलराज किए जाने के आरोपों पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि जो मन में आए, जो कहना हो, कहो. अब और विकास पर काम किया जाएगा। वहीं, लालू यादव से मुलाकात पर नीतीश कुमार ने कहा कि आपको नहीं पता कि लालू यादव से क्या रिश्ता है, हम साथ हैं और साथ रहेंगे, क्या किसी को पता है कि हमारा रिश्ता क्या है!

जानिए क्यों नाराज हैं बीमा भारती

यह भी पढ़ें सीतामढ़ी में पंचायत के मुखिया ने अर्धनग्न करके महिला को पीटा, पीड़िता ने पुलिस से की न्याय की गुहार

रूपौली विधानसभा से जदयू विधायक बीमा भारती का दावा उल्टा पड़ गया है। बिहार में कैबिनेट विस्तार के बाद बीमा भारती ने कड़ी आपत्ति जताई थी, उनकी नाराजगी दो बातों से थी. पहला कि उन्हें सरकार में मंत्री नहीं बनाया गया और दूसरी बात उनकी जगह लैसी सिंह को एक बार फिर मंत्री पद की जिम्मेदारी दी गई. इस मामले में बीमा भारती ने लेसी सिंह के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। लेकिन जैसे ही इस मामले की जानकारी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लगी, उसके बाद बीमा भारती की जमकर क्लास लग गई.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ