सरकारी बैंक की जबरदस्त स्कीम, रिटायरमेंट के बाद ग्राहकों को मिलेंगे 18 लाख, हर दिन जमा करना होगा 34 रुपए

अगर आप पोस्ट ऑफिस की इस योजना में हर दिन 34 रुपये का निवेश करते हैं, तो आप 18 लाख रुपये बन जाएंगे, जानिए कैसे: अगर आप सुरक्षित निवेश और अच्छे रिटर्न की योजना बना रहे हैं, तो आप डाकघर की छोटी बचत योजनाओं में जा सकते हैं। ऑफिस) में निवेश किया जा सकता है। इसमें बैंक निवेश पर अच्छा रिटर्न देता है और जोखिम की दर नगण्य होती है। हम आपको डाकघर के पब्लिक प्रोवाइड फंड (पीपीएफ) की जानकारी दे रहे हैं। कैलकुलेशन के आधार पर यह स्कीम आपको रोजाना 34 रुपये के निवेश पर 18 लाख रुपये देती है।

डाकघर पीपीएफ योजना

भारत सरकार पीपीएफ निवेश पर 7.1% ब्याज दर की पेशकश कर रही है। सरकार ने 2020 से पीपीएफ की ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है, जो कि 2020-21 सत्र के दौरान भी अपरिवर्तित रहा। यह योजना आपको परिपक्वता तक निवेश पर आयकर लाभ देती है। इसमें 15 साल के लिए निवेश किया जा सकता है। हालांकि अगर आप इस योजना में और निवेश करना चाहते हैं तो इसे 5-5 साल बाद और बढ़ाया जा सकता है। इसमें एक हजार रुपये से खाता खोला जाता है।

18 लाख से अधिक कैसे प्राप्त करें

इस स्कीम में निवेश करने की उम्र 18 साल है यानी अगर आप इस उम्र में निवेश करना शुरू करते हैं तो आप 34 रुपये प्रति दिन यानी 1000 रुपये प्रति माह का निवेश शुरू कर सकते हैं। अगर आप 25 साल के लिए हर महीने 1000 रुपये का निवेश जारी करते हैं, तो 15 साल के अंत में आपके पीपीएफ खाते में आपका मासिक निवेश 3.25 लाख रुपये होगा, जिसमें से 1.80 लाख रुपये आपका निवेश होगा और 1.45 लाख रुपये का निवेश होगा। आपका निवेश। ब्याज होगा। इसके अलावा आप चाहें तो 5 साल और निवेश कर सकते हैं।

इससे आपका निवेश 5.32 लाख रुपये हो जाएगा। पॉलिसी को 5 और वर्षों के लिए विस्तारित करने से आपका निवेश बढ़कर 8.24 लाख रुपये हो जाएगा। इस पांच साल के अंत में आपका निवेश 12.36 लाख रुपये हो जाएगा। और अंत में, यदि आप पांच और वर्षों के लिए निवेश करते हैं, तो आपका निवेश बढ़कर 18.15 लाख रुपये हो जाएगा। यानी करीब 35 साल तक हर रोज 34 रुपये पब्लिक प्रोविडेंट फंड में निवेश करने पर आपको 18 लाख रुपये से ज्यादा मिलेंगे।

Previous article
Next article

Leave Comments

एक टिप्पणी भेजें

please do not enter any spam link in the comment box.

Ads Post 1

Ads Post 2

Ads Post 3

Ads Post 4