जियो ग्राहकों को रिलायंस की चेतावनी, कहा— भूलकर भी ना करें यह 5 काम, नहीं तो कंगाल हो जाओगे

PATNA- Jio यूजर्स सावधान: ये 5 गलतियां न भूलें, स्कैमर्स को दी गई एक भी जानकारी से हो सकता है आपका बैंक अकाउंट खाली: रिलायंस जियो ने ई-केवाईसी घोटाले से बचने के लिए अपने ग्राहकों को चेतावनी के साथ कुछ टिप्स दिए हैं कंपनी यूजर्स को इन घोटालों से बचाने के लिए मैसेज अलर्ट भी भेजती रहती है। आइए जानते हैं उन 5 टिप्स के बारे में...

ई-केवाईसी वेरिफिकेशन के नाम पर फ्रॉड से बचें: रिलायंस जियो का कहना है कि ई-केवाईसी वेरिफिकेशन के नाम पर इनकमिंग कॉल या मैसेज का जवाब न दें। इसमें जालसाजों को केवाईसी वेरिफिकेशन के नाम पर एक नंबर पर कॉल करने के लिए कहा जाता है। यूजर्स को ऐसे फ्रॉड कॉल्स से सावधान रहने की जरूरत है।

केवाईसी अपडेट के लिए ऐप डाउनलोड न करें: केवाईसी अपडेट करने के लिए अपने फोन या पीसी पर कोई ऐप डाउनलोड न करें। यह आपके डिवाइस को स्कैमर तक पहुंच प्रदान कर सकता है और आपको वित्तीय नुकसान पहुंचा सकता है। यानी आपके खाते से पैसे निकाले जा सकते हैं.

महत्वपूर्ण विवरण साझा न करें: कंपनी और साइबर विशेषज्ञों के मुताबिक, ग्राहकों को आधार नंबर, ओटीपी, बैंक खाता नंबर जैसी जरूरी जानकारियां किसी को देने की जरूरत नहीं है. जालसाज जियो के फर्जी कस्टमर केयर बताकर ग्राहकों से जरूरी जानकारी मांगते हैं। धोखाधड़ी से बचने के लिए इसे किसी के साथ साझा न करें।

कनेक्शन बंद करने का भी दिखावा: कंपनी का कहना है कि अगर आपको कॉल या मैसेज आ रहे हैं जो कनेक्शन बंद करने की धमकी दे रहे हैं तो सावधान हो जाएं. रिलायंस जियो ने ग्राहकों से कहा है कि इन कॉल्स में ग्राहकों को ई-केवाईसी पूरा करने के लिए कहा जाता है। ई-केवाईसी पूरा नहीं होने पर कनेक्शन भी बंद करने की बात कही गई है, लेकिन ग्राहकों को स्कैमर्स के झांसे में नहीं आना चाहिए।

मैसेज में मिले अनजान लिंक पर न करें क्लिक: जियो ने कहा है कि ग्राहक मैसेज में उन लिंक्स पर क्लिक न करें जिनमें ई-केवाईसी करने की बात कही जा रही है. ग्राहकों को अन्य अज्ञात लिंक पर क्लिक करने से भी बचना चाहिए। कंपनी ने कहा कि वह कभी भी ग्राहकों को MyJio ऐप के अलावा कोई थर्ड पार्टी ऐप डाउनलोड करने के लिए नहीं कहेगी।

Previous article
Next article

Leave Comments

एक टिप्पणी भेजें

please do not enter any spam link in the comment box.

Ads Post 1

Ads Post 2

Ads Post 3

Ads Post 4